वैशाली की नगर वधू आचार्य चतुरसेन शास्त्री द्वारा हिंदी में पीडीएफ फाइनल डाउनलोड | Vaishali Ki Nagar Vadhu By Acharya Chatursen Shastri In Hindi PDF Final Download

वैशाली की नगर वधू आचार्य चतुरसेन शास्त्री द्वारा हिंदी में पीडीएफ फाइनल डाउनलोड | Vaishali Ki Nagar Vadhu By Acharya Chatursen Shastri In Hindi PDF Final Download

सभी हिंदी पुस्तकें पीडीएफ Free Hindi Books pdf

पुस्तक डाउनलोड करे

पुस्तक ख़रीदे

श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें

अगर इस पेज पर दी हुई सामग्री से सम्बंधित कोई भी सुझाव, शिकायत या डाउनलोड नही हो रहे हो तो नीचे दिए गए Contact Us बटन के माध्यम से सूचित करें। हम आपके सुझाव या शिकायत पर जल्द से जल्द अमल करेंगे

hindi pustak contactSummary of Book / बुक का सारांश 

इसमें भारतीय जीवन का एक जीता-जागता चित्र अंकित हैं। इस उपन्यास का कथात्मक परिवेश ऐतिहासिक तथा सांस्कृतिक है। इसकी कहानी बौद्ध काल से सम्बद्ध है और इसमें तत्कालीन लिच्छिवि संघ की राजधानी वैशाली की पुरावधू ‘आम्रपाली’ को प्रधान चरित्र के रूप में अवतरित करते हुए उस युग के हास-विलासपूर्ण सांस्कृतिक वातावरण को अंकित करने हुए चेष्टा की गयी है।

उपन्यास में घटनाओं की प्रधानता है किन्तु उनका संघटन सतर्कतापूर्वक किया गया है और बौद्धकालीन सामग्री के विभिन्न स्रोतों का उपयोग करते हुए उन्हें एक सीमा तक प्रामाणिक एवं प्रभावोत्पादक बनाने की चेष्टा की गयी है। उपन्यास की भाषा में ऐतिहासिक वातावरण का निर्माण करने के लिए बहुत से पुराकालीन शब्दों का उपयोग किया गया है। कुल मिलाकर चतुरसेन की यह कृति हिन्दी के ऐतिहासिक उपन्यासों में उल्लेखनीय है।

freehindipustak पर उपलब्ध इन हजारो बेहतरीन पुस्तकों से आपके कई मित्र और भाई-बहन भी लाभ ले सकते है – जरा उनको भी इस ख़जाने की ख़बर लगने दें | 

It depicts a living picture of Indian life. The narrative environment of this novel is historical and cultural. Its story is related to the Buddhist period and in this, while incarnating the ancient ‘Amrapali’ of Vaishali, the capital of the then Licchivi Sangha, as the main character, an attempt has been made to depict the depressing cultural environment of that era.

Events are predominant in the novel, but they have been carefully organized and attempts have been made to make them authentic and effective to an extent, using various sources of Buddhist material. Many archaic words have been used to create a historical atmosphere in the language of the novel. Overall, this work of Chatursen is notable among the historical novels of Hindi.

Connect with us / सोशल मीडिया पर हमसे जुरिए 

telegram hindi pustakhindi pustak facebook