तैत्तिरीय उपनिषद पीडीएफ अंग्रेजी में अंतिम डाउनलोड | Taittiriya Upanishad Pdf In English Final download

तैत्तिरीय उपनिषद पीडीएफ अंग्रेजी में अंतिम डाउनलोड | Taittiriya Upanishad Pdf In English Final download

सभी हिंदी पुस्तकें पीडीएफ Free Hindi Books pdf

पुस्तक डाउनलोड करे

पुस्तक ख़रीदे

श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें

अगर इस पेज पर दी हुई सामग्री से सम्बंधित कोई भी सुझाव, शिकायत या डाउनलोड नही हो रहे हो तो नीचे दिए गए Contact Us बटन के माध्यम से सूचित करें। हम आपके सुझाव या शिकायत पर जल्द से जल्द अमल करेंगे

hindi pustak contactSummary of Book / बुक का सारांश 

तैत्तिरीय उपनिषद में तीन अध्याय हैं: शिक्षा वल्ली, आनंद वल्ली और भृगु वल्ली। पहले अध्याय शिक्षा वल्ली में बारह अनुवाक (पाठ) शामिल हैं। दूसरे अध्याय आनंद वल्ली, जिसे कभी-कभी ब्रह्मानंद वल्ली कहा जाता है, में नौ छंद शामिल हैं। तीसरे अध्याय भृगु वल्ली में दस श्लोक हैं।

कुछ प्राचीन और मध्यकालीन हिंदू विद्वानों ने तैत्तिरीय उपनिषद को इसकी संरचना के आधार पर अलग-अलग वर्गीकृत किया है। उदाहरण के लिए, सायन ने अपने भाष्य (समीक्षा और टीका) में शिक्षा वल्ली (अरण्यक का सातवां अध्याय) को संहिता-उपनिषद कहा है, और वह आनंद वल्ली और भृगु वल्लू (आठवें और नौवें प्रपातकों) को एक अलग उपनिषद के रूप में मानना पसंद करते हैं। इसे वारुण्य उपनिषद कहते हैं

freehindipustak पर उपलब्ध इन हजारो बेहतरीन पुस्तकों से आपके कई मित्र और भाई-बहन भी लाभ ले सकते है – जरा उनको भी इस ख़जाने की ख़बर लगने दें | 

The Taittiriya Upanishad has three chapters: the Siksha Valli, the Ananda Valli and the Bhrigu Valli. The first chapter Siksha Valli includes twelve Anuvaka (lessons). The second chapter Ananda Valli, sometimes called Brahmananda Valli includes nine verses. The third chapter Bhrigu Valli consists of ten verses.

Some ancient and medieval Hindu scholars have classified the Taittiriya Upanishad differently, based on its structure. For example, Sâyana in his Bhasya (review and commentary) calls the Shiksha Valli (seventh chapter of the Aranyaka) as Sâmhitî-Upanishad, and he prefers to treat the Ananda Valli and Bhrigu Vallu (eighth and ninth Prapâthakas) as a separate Upanishad and calls it the Vāruny Upanishad

Connect with us / सोशल मीडिया पर हमसे जुरिए 

telegram hindi pustakhindi pustak facebook