एकनाथ रानाडे द्वारा स्वामी विवेकानंद का हिंदू राष्ट्र के लिए उत्साहपूर्ण आह्वान पीडीएफ अंग्रेजी में अंतिम डाउनलोड | Swami Vivekananda’s Rousing Call to Hindu Nation By Ekanath Ranade PDF In English Final Download

एकनाथ रानाडे द्वारा स्वामी विवेकानंद का हिंदू राष्ट्र के लिए उत्साहपूर्ण आह्वान पीडीएफ अंग्रेजी में अंतिम डाउनलोड | Swami Vivekananda’s Rousing Call to Hindu Nation By Ekanath Ranade PDF In English Final Download

सभी हिंदी पुस्तकें पीडीएफ Free Hindi Books pdf

पुस्तक डाउनलोड करे

पुस्तक ख़रीदे

श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें

अगर इस पेज पर दी हुई सामग्री से सम्बंधित कोई भी सुझाव, शिकायत या डाउनलोड नही हो रहे हो तो नीचे दिए गए Contact Us बटन के माध्यम से सूचित करें। हम आपके सुझाव या शिकायत पर जल्द से जल्द अमल करेंगे

hindi pustak contactSummary of Book / बुक का सारांश 

जबकि विवेकानंद ने अपने जीवनकाल के दौरान, दर्शन, धर्म, समाजशास्त्र, संगीत और वास्तुकला जैसे विषयों के व्यापक स्पेक्ट्रम पर बात की थी, एकनाथ रानाडे ने अपने संकलन में भारत की प्राचीन विरासत से संबंधित विवेकानंद के लेखन तक कवरेज को सीमित कर दिया, जिसके कारण वर्तमान स्थिति में इसका पतन और अतीत के गौरव को पुनः प्राप्त करने के तरीके और साधन। पुस्तक में प्रकाश डाला गया है विवेकानंद की हिन्दुस्तान की महिमा स्थापित करने के लिए हिंदुओं की अंतरात्मा को जगाने के लिए: “उठो! जागो! और तब तक मत रुको जब तक लक्ष्य प्राप्त न हो जाए”।

freehindipustak पर उपलब्ध इन हजारो बेहतरीन पुस्तकों से आपके कई मित्र और भाई-बहन भी लाभ ले सकते है – जरा उनको भी इस ख़जाने की ख़बर लगने दें | 

While Vivekananda, during his lifetime, had talked on a wide spectrum of themes such as philosophy, religion, sociology, music, and architecture, Eknath Ranade in his compilation limited the coverage to Vivekananda’s writings related to India’s ancient heritage, the reasons that led to its decline to the present state and the ways and means to reattain the past glory. Highlighted in the book are Vivekananda’s call to rouse the conscience of the Hindus to establish the glory of Hindustan: “Arise! Awake! And stop not till the goal is reached”.

Connect with us / सोशल मीडिया पर हमसे जुरिए 

telegram hindi pustakhindi pustak facebook