धम्मपद : बौद्धों की धार्मिक पुस्तक | Dhammpada : Religious Book Of Buddhism

धम्मपद : बौद्धों की धार्मिक पुस्तक | Dhammpada : Religious Book Of Buddhism In Hindi final Downlaod

सभी हिंदी पुस्तकें पीडीएफ Free Hindi Books pdf

पुस्तक डाउनलोड करे

पुस्तक ख़रीदे

श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें

अगर इस पेज पर दी हुई सामग्री से सम्बंधित कोई भी सुझाव, शिकायत या डाउनलोड नही हो रहे हो तो नीचे दिए गए Contact Us बटन के माध्यम से सूचित करें। हम आपके सुझाव या शिकायत पर जल्द से जल्द अमल करेंगे

hindi pustak contactSummary of Book / बुक का सारांश 

भगवान बुद्ध कीअमर वाणी ‘धम्मपद’ काभाषानुवाद आपके समक्ष प्रस्तुत करते हुए हमें अपार हर्ष हो रहा है। विश्वभर के लोक प्रिय ग्रंथों में इसकाबहुत ऊंचा स्थान है। विपश्यना के प्रचार-प्रसार के साथ-साथ इसकीलोक प्रियता और भी बढ़ती चली जायगी, इसमें लेशमात्र भी संदेह नहीं है।

कल्याणमित्र विपश्यनाचार्य श्री सत्यनारायण गोयन्काजी दस-दिवसीय विपश्यना शिविरों में साधना पक्ष कोसमझाने के लिए इसमें से बहुत से उद्धरण देते हैं। इसी से अनुमान लगाया जा सकता है कि आपके लिए इस ग्रंथ का कितना महत्त्व है। ध्यान से देखा जाय तो इसकीएक-एकगाथा साधना पक्ष को मजबूत करने वाली और अगाध प्रेरणा जगाने वाली है।

‘धम्मपद’ में समूची बुद्धवाणी की कुंजी भी उपलब्ध है –

freehindipustak पर उपलब्ध इन हजारो बेहतरीन पुस्तकों से आपके कई मित्र और भाई-बहन भी लाभ ले सकते है – जरा उनको भी इस ख़जाने की ख़बर लगने दें | 

We are delighted to present to you the linguistic ‘Dhammapad’ speech of Lord Buddha. It has a very high place in popular folklores around the world. With the propagation of Vipassana, its popular love will continue to grow even more, there is not even a slight doubt.
Kalyanamitra Vipassanacharya Sri Satyanarayana Goenkaji quotes a lot of it to encapsulate the Sadhana Paksha in the ten-day Vipassana camps. It can be estimated from this that how much this scripture means to you. If we look carefully, its one-sided practice is going to strengthen the side and arouse deep inspiration.
In ‘Dhammapada’, the key to the entire intelligence is also available –

Connect with us / सोशल मीडिया पर हमसे जुरिए 

telegram hindi pustakhindi pustak facebook