वराह मिहिर द्वारा बृहत संहिता पीडीएफ डाउनलोड अंग्रेजी में | Brihat Sanhita by Varah Mihir pdf final download in English

वराह मिहिर द्वारा बृहत संहिता पीडीएफ अंतिम डाउनलोड अंग्रेजी में | Brihat Sanhita BY Varah Mihir PDF Final Download IN English

सभी हिंदी पुस्तकें पीडीएफ Free Hindi Books pdf

पुस्तक डाउनलोड करे

पुस्तक ख़रीदे

श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें

अगर इस पेज पर दी हुई सामग्री से सम्बंधित कोई भी सुझाव, शिकायत या डाउनलोड नही हो रहे हो तो नीचे दिए गए Contact Us बटन के माध्यम से सूचित करें। हम आपके सुझाव या शिकायत पर जल्द से जल्द अमल करेंगे

hindi pustak contactSummary of Book / बुक का सारांश 

66-69. गुलिक आदि की गणना। सूर्य आदि के अंश शनि तक गुलिक और अन्य की अवधि को दर्शाते हैं। दिन की अवधि (किसी भी सप्ताह के दिन) को आठ बराबर भागों में विभाजित करें। आठवां भाग भगवान रहित है। सात भागों को सप्ताह के दिन के भगवान से शुरू होने वाले सात ग्रहों में वितरित किया जाता है। जिस हिस्से पर शनि का शासन होगा, वह गुलिक का हिस्सा होगा। इसी तरह रात की अवधि को आठ बराबर भागों में बांटकर 5″ (द्वारा) सप्ताह के भगवान से शुरू करके वितरित करें। यहां फिर से, आठवां भाग भगवान रहित है, जबकि शनि का हिस्सा गुलिक है। सूर्य का हिस्सा काल है, मंगल का हिस्सा है। मृत्यु है, गुरु का भाग यमघंटक है और बुद्ध का भाग अर्धप्रहार है। ये अवधि अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग लागू होती है (परिवर्तनशील दिन और रात की अवधि के अनुरूप)।

freehindipustak पर उपलब्ध इन हजारो बेहतरीन पुस्तकों से आपके कई मित्र और भाई-बहन भी लाभ ले सकते है – जरा उनको भी इस ख़जाने की ख़बर लगने दें | 

66-69. Calculations of Gulik etc. The portions of Sūrya etc. up to Sani denote the periods of Gulik and others. Divide the day duration (of any week day) into eight equal parts. The eighth portion is Lord-less. The seven portions are distributed to the seven Grahas commencing from the Lord of the week day. Whichever portion is ruled by Sani, will be the portion of Gulik. Similarly make the night duration into eight equal parts and distribute these, commencing from the Lord of the 5″ (by) week. Here again, the eighth portion is Lord-less, while Sani’s portion is Gulik. Sūrya’s portion is Kaal, Mangal’s portion is Mrityu, Guru’s portion is Yamaghantak and Budh’s portion is Ardhaprahar. These durations differently apply to different places (commensurate with variable day and night durations).

Connect with us / सोशल मीडिया पर हमसे जुरिए 

telegram hindi pustakhindi pustak facebook